एसआरटीईपीसी ने 400 बिलियन अमेरिकी डॉलर के निर्यात लक्ष्य को बताया उत्साहजनक

उधोग जगत‌ से जुडी हस्तियो के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की वर्चुअल बैठक

सूरत‌ , 8 अगस्त ।  प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कल वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से व्यापार और वाणिज्य क्षेत्र के हितधारकों और विदेशों में भारतीय मिशनों के प्रमुखों के साथ बातचीत की।  कांफ्रेंस के दौरान वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और  विदेश मंत्री डॉ. सुब्रह्मण्यम जयशंकर भी उपस्थित रहे। वर्चुअल बैठक मे एसआरटीईपीसी  के सदस्यों के अलावा राज्य सरकार के अधिकारियों और चैंबर्स ऑफ कॉमर्स ने भाग लिया।

                 एसआरटीईपीसी के अध्यक्ष धीरज शाह के मार्गदर्शन में प्रधान मंत्री के साथ बैठक मे दो केंद्रों मुंबई और सूरत से वर्चुअल बैठक में सदस्यो ने भाग लिया।  मुंबई सेंटर की ओर से एंबेसडर होटल में बैठक आयोजित किया गया था जिसकी अध्यक्षता उपाध्यक्ष भद्रेश दोधिया ने की जिसमें लगभग 40 सदस्य-निर्यातक शामिल हुए एवं  एसआरटीईपीसी सूरत की ओर से ली मेरिडियन होटल में बैठक सम्पन्न हुई जिसकी अध्यक्षता एसआरटीईपीसी के अध्यक्ष धीरज शाह ने की जिसमें लगभग 60 सदस्य-निर्यातक शामिल हुए।
     बैठक को संबोधित करते हुए  प्रधान मंत्री ने कहा कि यह आजादी का अमृत महोत्सव का समय है।  स्वतंत्रता के 75वें त्योहार को मनाने के साथ-साथ, यह भविष्य के भारत और निर्यात महत्वाकांक्षाओं के लिए एक स्पष्ट दृष्टि और रोडमैप बनाने का अवसर है, जिसके लिए सभी की भूमिका महत्वपूर्ण हैं।
        एसआरटीईपीसी के अध्यक्ष धीरज  शाह‌ एमएमएफ सेक्टर की ओर से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया एवं एमएमएफ तथा टेक्सटाईल सेक्टर के साथ बातचीत करने की पहल के लिए बधाई की।  उन्होंने बताया कि कोविड महामारी ने उत्पादन और निर्यात दोनों को प्रभावित किया है।  2019-20 के दौरान कोविड महामारी से पूर्व निर्यात 5.9 बिलियन अमेरिकी डॉलर था।  2020-21 मे कोविड महामारी के दौरान निर्यात लगभग 21% घटकर 4.644 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो गया है। मौजूदा परिदृश्य मे निर्यात में सुधार के कुछ संकेत दिखाई दे रहा है।