आज़ादी के अमृत महोत्सव” के जरिये भारत के “स्वतंत्रता आंदोलन” के गौरवशाली पद चिन्हों के साथ पश्चिम रेलवे की कदमताल

 “आज़ादी के अमृत महोत्सव” के जरिये भारत के “स्वतंत्रता आंदोलन” के ऐतिहासिक क्षणों और गौरवशाली पद चिन्हों पर पश्चिम रेलवे द्वारा उल्लास और देशभक्ति की भावना के साथ कदमताल की जा रही है। उल्लेखनीय है कि इस गौरवशाली अवसर को मनाने के लिए, 12 मार्च, 2021 को अहमदाबाद में साबरमती आश्रम से माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ‘पदयात्रा’ (फ़्रीडम मार्च) का शुभारंभ किया, जहां उन्होंने “आज़ादी के अमृत महोत्सव” का उदघाटन भी किया। पश्चिम रेलवे के लिए यह गर्व का विषय है कि इस पदयात्रा का पूरा मार्ग पश्चिम रेलवे के सीमा क्षेत्र में पड़ता है। इसी प्रकार, पोरबंदर, राजकोट, साबरमती, नडियाद, आणंद, अंकलेश्वर, सूरत और नवसारी सहित महात्मा गांधीजी से जुड़े विभिन्न स्थान भी पश्चिम रेलवे पर स्थित हैं।

 

 

 

 

 

 

 

फोटो कैप्शन: पहली तस्वीर में वडोदरा स्टेशन पर प्रदर्शित बैनर का एक दृश्य और दूसरी तस्वीर में वडोदरा डिवीजन की नडियाद-सोजीत्रा नैरोगेज लाइन के समपार फाटक से गुजरने वाली पदयात्रा का दृश्य। दूसरी पंक्ति की पहली तस्वीर में, वडोदरा स्टेशन पर डिजिटल संग्रहालय की स्क्रीन पर प्रदर्शित की जा रही गांधीजी पर बनी फिल्म। आखिरी तस्वीर में भरूच स्टेशन की एक बुकिंग विंडो के बाहर प्रदर्शित बैनर।

 

 

 

    पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, इस ऐतिहासिक घटना के उत्सव को मनाने के लिए, पश्चिम रेलवे पर विभिन्न गतिविधियों को आयोजित किया जा रहा है। भारत के फिल्म्स डिवीजन द्वारा “ए फिल्म ऑन लाइफ ऑफ महात्मा गांधी” और पश्चिम रेलवे द्वारा निर्मित “Tracing the foot prints of Mahatma Gandhi on Western Railway” शीर्षक वाले पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन का सभी मंडलों के विभिन्न स्टेशनों पर एलसीडी और एलईडी टीवी स्क्रीन पर प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी प्रकार, पोरबंदर, राजकोट, अहमदाबाद, साबरमती, वडोदरा, नवसारी, सूरत और गांधी स्मृति (हॉल्ट) स्टेशनों पर महात्मा गांधीजी से संबंधित म्यूरल्स को आकर्षक रोशनी से सजाया गया है। स्टेशनों के अलावा, दांडी मार्च के मार्ग में आने वाले साबरमती, नडियाद, आणंद, अंकलेश्वर इत्यादि सहित विभिन्न स्थानों पर बैनर प्रदर्शित किये गये हैं। इन बैनरों को पदयात्रा के मार्ग में स्थित समपार फाटकों पर भी प्रदर्शित किया गया है। श्री ठाकुर ने बताया कि वडोदरा डिवीजन में, पदयात्रा उद्घाटन समारोह का लाइव प्रसारण भरूच, अंकलेश्वर, नडियाद, आणंद और वडोदरा स्टेशनों पर किया गया, जबकि इन 5 स्टेशनों पर बैनर भी प्रदर्शित किए गए। इसी प्रकार, अहमदाबाद डिवीजन में, पदयात्रा कार्यक्रम का लाइव प्रसारण पालनपुर स्टेशन पर किया गया तथा अहमदाबाद और साबरमती स्टेशनों पर बैनर प्रदर्शित किए गए। 15 मार्च, 2021 को फ़्रीडम मार्च पदयात्रा पश्चिम रेलवे के वडोदरा डिवीजन की नडियाद-सोजीत्रा नैरोगेज लाइन के लेवल क्रॉसिंग गेट संख्या 4 से गुजरी। श्री ठाकुर ने बताया कि रेल सुरक्षा बल द्वारा उपयुक्त बंदोबस्त पदयात्रा मार्ग में आने वाले सभी समपार फाटकों पर सुनिश्चित किया जा रहा है। 81 पदयात्रियों ने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से 241 मील लंबी पदयात्रा के पहले चरण में भाग लिया, जो 5 अप्रैल, 2021 को नवसारी के पास दांडी पहुंचने के बाद समाप्त हो जाएगी। इस पदयात्रा के दौरान विभिन्न पड़ावों पर पदयात्रियों के अलग-अलग समूह जुड़ रहे हैं। यह उल्लेखनीय है कि “आजादी का अमृत महोत्सव” भारत सरकार द्वारा भारत की स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ मनाने के लिए आयोजित कार्यक्रमों की एक श्रृंखला है, जिसे जन-भागीदारी की भावना के साथ जन-उत्सव के रूप में मनाया जायेगा।